• “आपसी भेदभाव को भूल कर एक जुट होने की ज़रुरत है”

    भंवर मेघवंशी

    January 30, 2020

    दलित चिंतक भंवर मेघवंशी बात करते हैं कि किस तरह से दलित साहित्य और कलाएं दलित आंदोलन को मज़बूती दे रहे हैं। यह बातचीत 24 नवंबर, 2019 को दलित लेखक संघ, जनवादी लेखक संघ, जन संस्कृति मंच और न्यू सोशलिस्ट इनिशिएटिव द्वारा आयोजित "दलित आंदोलन: साहित्य और कलाएं" नामक कार्यक्रम में हुई।


     

    Donate to the Indian Writers' Forum, a public trust that belongs to all of us.