Singing About the Dark Times

Singing About the Dark Times

Shubha Mudgal Sings Dushyant Kumar’s  “kahaan to tai thaa charaghaan har ek ghar ke liye” कहाँ तो तय था चिराग़ाँ हर एक घर के लिए – दुष्यंत कुमार कहाँ तो तय था चिराग़ाँ हर एक घर के लिए कहाँ चिराग़ मयस्सर नहीं शहर के लिए यहाँ दरख़तों के साये में धूप लगती है चलो यहाँ…