स्मृति शेष संकलन: केदारनाथ सिंह स्वयं एक लम्बी कविता थे, कहानी छोड़ गए

स्मृति शेष संकलन: केदारनाथ सिंह स्वयं एक लम्बी कविता थे, कहानी छोड़ गए

  वो स्वयं एक लम्बी कविता थे. इक खूबसूरत तस्वीर थे. एक सुंदर कहानी थे. एक बेहतरीन शिक्षक थे. एक उम्दा इंसान थे. एक सजग नागरिक थे. एक मुकम्मल व्यक्ति  थे। उनकी एक कविता है जो उन्होंने अपने निधन से 31 बरस पहले , 1978 में लिखी थी. उन्होंने इसका शीर्षक रखा था – मुक्ति….