“आज़ादी हमारा पैदाइशी हक़ है”: कृष्णा सोबती

“आज़ादी हमारा पैदाइशी हक़ है”: कृष्णा सोबती

लगातार तर्कशील एवं प्रगतिशील ताकतों पर हो रहे हमलों के विरोध में १ नवम्बर को दिल्ली के मावलंकर सभागार में आयोजित ‘प्रतिरोध’ नामक सभा में लेखक कृष्णा सोबती ने अपनी बात रखी. सोबती ने आज़ादी की लड़ाई के दौरान हुए संघर्षों को याद करते हुए वर्तमान समय में मौजूदा हालात के खिलाफ मुखर प्रतिरोध का…